नरेंद्र मोदी की सभा में कोरोना का डर, सभी का होगा कोरोना टेस्ट, दूरी बनाकर रहेंगे PM

बिहार विधानसभा चुनाव में पहली दफे चुनाव प्रचार के लिए आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में कोरोना से बचाव के सारे इंतजाम किये गये हैं. प्रधानमंत्री की सभा में मंच पर चुनिंदा नेताओं को जगह मिली है. उपर से शर्त ये रखा गया है कि वही मंच पर बैठ पायेंगे जिन्होंने पिछले दो दिनों के भीतर अपना कोरोना टेस्ट कराया होगा. मंच पर बैठने वालों की कौन कहे मंच के इर्द गिर्द रहने वालों का भी कोरोना टेस्ट कराया गया है. 

प्रधानमंत्री के सभा स्थल के मैदान में भी 6 फीट की दूरी पर कुर्सियां लगायी गयी हैं. नरेंद्र मोदी जिस जिले में जायेंगे वहां के एनडीए उम्मीदवार सभा में आयेंगे लेकिन उनके लिए अलग से मंच होगा. प्रधानमंत्री शुक्रवार को तीन जनसभाओं को संबोधित करेंगे.

प्रधानमंत्री की सभा से एक दिन पहले भागलपुर में 205 लोगों की कोरोना जांच की गयी. जिले के सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि गुरुवार को 155 लोगों के सैंपल पुलिस लाइन में और 50 लोगों के सैंपल सदर अस्पताल में लिए गए. सभी सैंपल की जांच आरटी-पीसीआर मशीन से की गयी है. जिन लोगों की जांच की गयी है उनमें उनमें पीएम की रैली में ड्यूटी करनेवाले अफसर, सत्ता पक्ष से जुड़े नेता,  बीएमपी, पुलिस के लोग और एसपीजी के जवान शामिल हैं. ये वही लोग हैं, जिनकी पीएम नरेंद्र मोदी की सभा में वीवीआईपी एरिया से लेकर मंच तक ड्यूटी लगी है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का खुद निर्देश दिया है. लिहाजा रैली स्थल पर 6 फीट की दूरी पर कुर्सियां लगायी जा रही हैं. सासाराम, गया और भागलपुर की रैली में 5 से 7 हजार कुर्सियां लगायी गयी हैं. मंच पर बैठने वालों का खास ख्याल रखा जा रहा है. मंच पर उन्हीं लोगों को बैठने की इजाजत होगी जिन्होंने पिछले दो दिनों के अंदर कोरोना का टेस्ट कराया होगा. प्रधानमंत्री की सभा जिस जिले में होगी वहां के एनडीए उम्मीदवार सभा में आयेंगे. लेकिन उन्हें प्रधानमंत्री के मंच पर जगह नहीं मिलेगी. उम्मीदवारों के लिए अलग से मंच बनवाया गया है. उन्हें वहीं बैठना होगा.