Home राज्य झोला लेकर चलते हैं विधायक महबूब आलम, 4 बार MLA बनने के...

झोला लेकर चलते हैं विधायक महबूब आलम, 4 बार MLA बनने के बाद भी नहीं है पक्का का मकान

- Advertisement -
block id 8409 site livebihar.com - mob 300x600px_B

भारत में यदि कोई एक बार सरपंच या मुखिया भी बन जाता है तो उसके पास पैसों की कमी नहीं होती है. रसरपंच या मुखिया बनने वाला व्यक्ति सालभर के अंदर ही साइकिल से उतर कर कार से घुमने लगता है. वहीं, अपने पांच साल का टर्म पूरा होते-होते वह लाखों रुपए की चल- अचल संपत्ति अर्जित कर लेता है. लेकिन इन सभी के बावजूद कुछ ऐसे भी नेता हैं, जो विधायक बनने के बाद पहले की तरह ही जिंदगी जी रहे हैं. इन्हीं नेताओं में से एक नाम है महबूब आलमका. ये अपनी ईमानदारी और सादगी के लिए पूरे इलाके में प्रसिद्ध हैं. यही वजह है कि विधायक रहने के बाद भी ये अभी तक अपना पक्का मकान नहीं बना सके.

जानकारी के मुताबिक, महबूब आलम बिहार के कटिहार जिले के रहने वाले हैं. महबूब आलम बलरामपुर सीट से चौथी बार विधायक चुने गए हैं. खास बात यह है कि महबूब आलम ने इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा मतों के अंतर से चुनाव जीता है. लेकिन चार बार विधायक चुने जाने के बाद भी उनके पास आज तक कोई पक्का मकान तक नहीं हो सका. वे आज भी कहीं जाने के लिए पैदल ही चलते हैं. कहा जा रहा है कि इस बार के बिहार चुनाव में जीतकर विधानसभा पहुंचे 81 फीसदी विधायक करोड़पति हैं. उनके बीच महबूब आलम ऐसे विधायक हैं जिनके पास एक पक्का मकान तक नहीं है. ऐसे में वे इन दिनों लोगों की बीच चर्चा का विषय बने हुए हैं.

महबूब आलम CPI के टिकट पर चौथी बार विधायक चुने गए हैं
बता दें कि महबूब आलम कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के टिकट पर चौथी बार विधायक चुने गए हैं. कटिहार जिले की बलरामपुर विधानसभा सीट से विधायक हैं. उन्होंने 53 हजार से ज्यादा वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है. यह इस बार के बिहार चुनाव की सबसे बड़ी जीत है. खास बात यह है कि महबूब आलम की उम्र अभी महज 44 साल ही है. वे 10 वीं पास हैं. साथ ही वे खेती भी करते हैं.

RELATED ARTICLES

राजस्थान की कलात्मक विरासत को सहेजती महिलाएं

शेफाली मार्टिन्स जयपुर, राजस्थानराजस्थान के विभिन्न हस्तशिल्प कलाओं में लाख की चूड़ियां अन्य आभूषणों से बहुत पहले से मौजूद थी. वैदिक युग...

इंग्लैंड में रहकर भी नहीं भूले सभ्यता, विश्व के नामचीन बिजनेस स्कूल से की मास्टर्स की पढ़ाई

वेदांत वर्मा उर्फ़ यश वर्मा इंग्लैंड के तीसरे स्थान और विश्व के नामचीन बिजनेस स्कूल में मास्टर्स की पढ़ाई स्कॉलरशिप पर पूरी...

दर्जन भर युगल जोड़ियों के विवाहोत्सव के साथ संपन्न हुआ अखंड सह नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ

हिलसा अनुमंडल स्थित राधाकृष्ण मंदिर वृंदावन चौक पर पिछले 24 मई से प्रारंभ हुए अखंड सह नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ का शनिवार...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सक्षमता परीक्षा देकर बाहर निकले शिक्षक, बोले-सवाल बहुत मुश्किल था, एग्जाम से पहले जूता-मोजा निकलवाया गया

पटनाः बिहार बोर्ड की तरफ से ली जा रही सक्षमता परीक्षा की शुरुआत हो गई है। पहले दिन शिक्षकों ने परीक्षा के...

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

कैमूर हादसे पर CM नीतीश ने जताया दुःख, सभी लोगों की हो गई शिनाख्त, परिवार में मातम का माहौल

पटना डेस्कः बिहार के कैमूर जिला में एक बड़ी घटना घटी है, जिसमें 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। दरअसल...

देश देखेगा गोवा पर्यटन संग आध्यात्मिक राष्ट्रवाद से विकास की राह पर आगे बढ़ेगा, सन-सैंड-सी’ संग जुड़ा गोवा

गोवा अपनी छवि का विस्तार करने का संकल्प ले चुका है।  उसकी चाहत है कि उसे उसके समुद्री तटों, गिरिजाघरों के अलावा भी...

Recent Comments