Home Bihar Election बांकीपुर सीट : प्लूरल्स' की नहीं निर्दलीय हो गईं पुष्पम, सुषमा साहू...

बांकीपुर सीट : प्लूरल्स’ की नहीं निर्दलीय हो गईं पुष्पम, सुषमा साहू का हो गया नामांकन रद्द

- Advertisement -
block id 8409 site livebihar.com - mob 300x600px_B

बिहार की हॉटेस्ट सीट पटना के बांकीपुर पर शनिवार को हंगामा मच गया। ‘द प्लूरल्स पार्टी’ की अध्यक्ष और खुद को मुख्यमंत्री की दावेदार बताते हुए बांकीपुर सीट से उतरने वाली पुष्पम प्रिया की पार्टी का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन नहीं उपलब्ध होने के आधार पर जिला निर्वाचन कार्यालय ने उन्हें निर्दलीय घोषित कर दिया। आपको बता दें कि इससे पहले प्लूरल्स के कई उम्मीदवारों के संग ऐसा हो चुका है। पहले चरण के नामांकन में उनके जिन उम्मदवारों के नाम स्वीकृत हुए थे वे सभी निर्दलीय प्रत्याशी बताए गए थे।

वहीं पुष्पम के अलावा दूसरा बड़ा बवाल राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व सदस्य और बिहार प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष सुषमा साहू के नामांकन रद्द होने के रूप में सामने आया। सुषमा ने भाजपा से बगावत कर बांकीपुर सीट पर नामांकन भरा था, जिसके कारण लगातार जीत रहे नितिन नवीन इस बार अपनी जीत को लेकर आशंकित हो उठे थे। सुषमा की पटना शहर और महिलाओं के बीच अच्छी पैठ है, जिसके कारण उनकी उम्मीदवारी से नितिन नवीन के साथ ही पूरी भाजपा परेशान थी।

सुषमा ने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने का मन बनाया था और अनुभव की कमी के कारण दस्तावेजों में शपथपत्र भरना भूल गईं। नामांकन रद्द होने की सूचना के साथ सुषमा का रो-रो कर बुरा हाल है तो दूसरी तरफ भाजपा ने राहत की सांस ली है।

बताते चलें कि बांकीपुर विधानसभा सीट इसलिए काफी हॉट होगी, क्योंकि अपने आपको मुख्यमंत्री का भावी उम्मीदवार बताने वाली पुष्पम प्रिया चौधरी इस सीट से ताल ठोकेंगी। कांग्रेस ने इस सीट से शॉटगन शत्रुघ्न सिन्हा के बड़े बेटे लव सिन्हा को अपना उम्मीदवार बनाया है। इसी सीट से भाजपा नेत्री और राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रह चुकी सुषमा साहू भी चुनाव लड़ने का मन बना चुकी थीं। इन सभी की टक्कर भाजपा के तीन बार के विधायक रहे नितिन नवीन से है।

बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र के बारे में बात करें तो 3 लाख 80 हजार वोटर यहां हैं। जिसमें करीब 1 लाख 77 हजार वोट महिलाओं का है और बाकी 2,03,000 वोट पुरुषों का है। 2015 में बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र में 40.2% वोट किया गया था। भाजपा के नितिन नवीन ने कांग्रेस के आशीष कुमार को 39,767 वोट से हराया था।

बांकीपुर कायस्थ बहुल इलाका है। कायस्थ एग्रेसिव वोटर माने जाते हैं। ऐसे में ब्राह्मण समुदाय की पुष्पम प्रिया चौधरी, वैश्य समुदाय से आने वाली सुषमा साहू और कायस्थ समाज से आने वाले लव सिन्हा और नितिन नवीन कितने वोटरों को अपने पक्ष में कर पाते हैं, यह दे,ाना दिलचस्प होगा।

RELATED ARTICLES

बिहार में आइसोलेशन सेंटर दोबारा शुरू, होली पर दूसरे राज्‍यों से आनेवाले को रखा जाएगा

Desk: राजधानी में होली पर कोरोना से ज्यादा प्रभावित राज्यों से आने वालों की जांच के साथ उन्हें आइसोलेशन सेंटर में रखने...

बिहार पंचायत चुनाव में वोटिंग के लिए ये दस्तावेज रखें, आयोग ने जारी की 16 दस्तावेजों की लिस्ट

Desk: बिहार में पंचायत चुनाव के वोटरों के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने उन 16 दस्तावेजों की लिस्ट जारी कर दी है...

राज्यसभा की सीट को लेकर सियासत, चिराग बोले- मेरी मां राजनीति में नहीं आना चाहती

लाइव बिहार: लोजपा संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद राज्यसभा की एक सीट खाली हो गई है....

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकसभा चुनाव की घोषणा अगले हफ्तों के अन्दर, यूपी को छोड़कर देश के सभी राज्यों की सीटों के लिए कांटे की टक्कर

अब कुछ हफ्तों के बाद ही देश में लोकसभा चुनावों की घोषणा हो जाएगी। पर उत्तर प्रदेश (यूपी) को छोड़कर देश के...

सक्षमता परीक्षा देकर बाहर निकले शिक्षक, बोले-सवाल बहुत मुश्किल था, एग्जाम से पहले जूता-मोजा निकलवाया गया

पटनाः बिहार बोर्ड की तरफ से ली जा रही सक्षमता परीक्षा की शुरुआत हो गई है। पहले दिन शिक्षकों ने परीक्षा के...

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

कैमूर हादसे पर CM नीतीश ने जताया दुःख, सभी लोगों की हो गई शिनाख्त, परिवार में मातम का माहौल

पटना डेस्कः बिहार के कैमूर जिला में एक बड़ी घटना घटी है, जिसमें 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। दरअसल...

Recent Comments