Home अपराध सहरसा में रेल टिकटों की कालाबाजारी, ठगी का शिकार हो रहे प्रवासी...

सहरसा में रेल टिकटों की कालाबाजारी, ठगी का शिकार हो रहे प्रवासी मजदूर, वसूले जा रहे इतने रुपए

- Advertisement -
block id 8409 site livebihar.com - mob 300x600px_B

कोरोना महामारी के कई सारे प्रवासी मजदूर दूसरे शहरों से घर वापस लौटे लेकिन अबजब लॉकडाउन में धीरे- धीरे ढ़ील मिलने लगी हैं और सबकुछ खुल गया है. ऐसे में बाहर काम करनेवाले मजदूर फिर से बिहार से बाहर जाने को तैयार हैं लेकिन इसी दौरान उन्हें ठगी का शिकार भी होना पड़ रहा है. ताजा मामला सहरसा जिले का है यहां रेल टिकटों की कालाबाजारी का धंधा जोरों पर है. बाहर जा रहे मजदूरों से टिकट के दलाल ठगी कर उनसे पैसे ऐंठ रहे हैं.

हाल में सहरसा जंक्शन से नई दिल्ली जाने वाली वैशाली एक्सप्रेस के नाम पर तीन ग्रामीण यात्रियों से एजेंट द्वारा 1065 की जगह 5600 रुपए वसूलने का मामला सामने आया है. एजेंट ने सिर्फ पैसे ही नहीं वसूले बल्कि इन यात्रियों को एक ही पीएनआर पर तीन टिकट जारी कर वेटिंग काउंटर का टिकट थमा दिया. दरअसल, इस मामले का खुलासा तब हुआ जब गुरुवार सुबह जब तीनों यात्री ट्रेन पकड़ने प्लेटफार्म पर पहुंचे, तो चेकिंग के दौरान वेटिंग काउंटर टिकट पकड़ा गया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों यात्रियों से पूछताछ की, जिसमें एजेंट के नाम का खुलासा हुआ. दलाल का शिकार बने राजकुमार महतो की माने तो प्रशांत रोड स्थित रेलवे आरक्षण केंद्र टिकट लिये थे उसने निर्धारित शुल्क से ज्यादा वसूल कर टिकट कंफर्म करवाने बात कही पर यहां टिकट चेकिंग के दौरान टिकट दलाल फरार हो गया फिर हमलोगों ने आरपीएफ के पास शिकायत किये.

वहीं आरपीएफ सहायक इंस्पेक्टर श्रीनिवास ने बताया कि तीनों पीड़ित यात्रियों के नाम राजकुमार महतो, चंदन महतो और विजय महतो हैं. जो दिल्ली जाने के लिये प्रशांत सिनेमा रोड में चंदन भगत जो रेल टिकट एजेंट है. रेलवे आरक्षण केंद्र के नाम से उसकी दुकान है. उसी जगह से इनलोगों ने टिकट खरीदा था जिसे टिकट दलाल चंदन भगत ने ज्यादा पैसा लेकर वेटिंग टिकट थमा दिया. जिसका ट्रेन पकड़ने स्टेशन पहुंचे यात्रियों का टिकट चेकिंग के दौरान पकड़ाने पर खुलासा हुआ.

तत्काल इनलोगों ने रेलवे सुरक्षा पोस्ट पर लिखित शिकायत की. जिसके शिकायत पर आरपीएफ द्वारा तत्काल तफ्तीश शुरू कर दी है. सच मायने में एक तरफ कोरोना संकट दूसरी तरफ गरीबी बेरोजगारी से जूझ रहे प्रवासी मजदूर जो रोजी रोजगार की तलाश में अन्य राज्यों की ओर पलायन करने को मजबूर है. उसे भी रेलवे टिकट दलाल चुना लगाने से बाज नही आ रहे है. जरूरत है ऐसे दलालों पर सख्त कार्रवाई की.

RELATED ARTICLES

वरिष्ठ पत्रकार खालिद रशीद के निर्माणाधीन घर में चोरी की घटना, बहादुरपुर थाने की पुलिस जांच में जुटी

पटनाः पटना सिटी के बहादुरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत न्यू अजीमाबाद कॉलोनी, संदलपुर में वरिष्ठ पत्रकार खालिद रशीद के निर्माणाधीन मकान में बीती...

IPS अफसर ने कंस्ट्रक्शन कंपनी को 18 लाख का लोन दिया, गवाह ने EOU को बताया- सूद पर 25 लाख कैश भी दिए

पटनाः बालू के अवैध खनन में संलिप्तता को लेकर नीतीश सरकार ने 27 जनलाई 2021 को ही भोजपुर के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक...

ब्रह्मेश्वर मुखिया हत्याकांड में CBI की केस डायरी से नया खुलासा, धक्का-मुक्की के बाद हुलास पांडेय ने पिस्टल से मार दी थी गोली

पटना डेस्कः ब्रह्मेश्वर मुखिया हत्याकांड में सीबीआई ने चौंकाने वाला खुलास किया हैं। इस कांड की जांच कर रही सीबीआई की टीम...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकसभा चुनाव की घोषणा अगले हफ्तों के अन्दर, यूपी को छोड़कर देश के सभी राज्यों की सीटों के लिए कांटे की टक्कर

अब कुछ हफ्तों के बाद ही देश में लोकसभा चुनावों की घोषणा हो जाएगी। पर उत्तर प्रदेश (यूपी) को छोड़कर देश के...

सक्षमता परीक्षा देकर बाहर निकले शिक्षक, बोले-सवाल बहुत मुश्किल था, एग्जाम से पहले जूता-मोजा निकलवाया गया

पटनाः बिहार बोर्ड की तरफ से ली जा रही सक्षमता परीक्षा की शुरुआत हो गई है। पहले दिन शिक्षकों ने परीक्षा के...

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

कैमूर हादसे पर CM नीतीश ने जताया दुःख, सभी लोगों की हो गई शिनाख्त, परिवार में मातम का माहौल

पटना डेस्कः बिहार के कैमूर जिला में एक बड़ी घटना घटी है, जिसमें 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। दरअसल...

Recent Comments