Home Bihar Election जोकिहाट में तस्लीमुद्दीन परिवार का किला गिरा पाना, बीजेपी के लिए आसान...

जोकिहाट में तस्लीमुद्दीन परिवार का किला गिरा पाना, बीजेपी के लिए आसान काम नहीं

- Advertisement -
block id 8409 site livebihar.com - mob 300x600px_B

अररिया में सोमवार को कई दिग्गज नेताओं ने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया है। इस दौरान अररिया के पूर्व सांसद सरफराज आलम ने भी जोकीहाट विधानसभा से आरजेडी प्रत्याशी के रूप में अपना पर्चा दाखिल किया। वहीं सिकटी विधानसभा क्षेत्र से निवर्तमान विधायक विजय कुमार मंडल ने भाजपा प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। अररिया के निवर्तमान विधायक आबिदुर रहमान ने कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया। पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष शगुफ्ता अजीम ने अररिया विधानसभा क्षेत्र से जदयू प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया है। इस तरह से अररिया से 9, सिकटी से 6, जोकीहाट से 3, रानीगंज से 5, फारबिसगंज से 5 और नरपतगंज से 8 प्रतियाशियों ने नामांकन पर्चा दाखिल किया है। कुल 36 प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल किया है। सभी प्रतियाशियों ने सिर्फ विकास की बात कही।

बता दें कि इस बार जाकिहाट सीट हॉट सीट बनी हुई है। इस बार अररिया से पूर्व सांसद सरफराज आलम फिर से मैंदान में हैं। बता दें कि वे जोकिहाट सीट से तीन बार चुन कर बिहार विधानसभा पहुंचे हैं। साल 2000, 2010 और 2015 में वे इस सीट से विधायक रहे थे। इनमें से दो बार वे 2010 और 2015 में वे जदयू के टिकट पर चुनाव लड़े थे। आपको बता दें कि सरफराज आलम को 2016 में जदयू की ओर से पार्टी से बाहर निकाल दिया था, इसके पीछे कारण था कि उपनर आरोप थे कि उन्होंने ट्रेन में सफर के दौरान एक दंपति के संग मिसबीहेव करने का आरोप लगा था।

सरफराज ने इसके बाद आरजेडी का दामन थाम लिया था। अररिया उपचुनाव के दौरान उन्हें राजद की ओर से टिकट मिला ओर वो इस सीट से जीत गए। इस बार उन्हें चुनौती दे रहे हैं बीजेपी की ओर से रंजीत यादव। बता दें कि जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र के 41 वर्षीय भाजपा के युवा प्रत्याशी महंगी व लक्ज़री गाड़ियों के शौकीन तो हैं। साथ ही करोड़ों की जायदाद के मालिक भी हैं।

बात इस सीट की करें तो जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र का गठन 1967 में हुआ और नजमुद्दीन पहले विधायक बने। इसके बाद 1969 के चुनाव में पहली बार तस्लीमुद्दीन परिवार का दबदबा बना और यह कायम रहा। तस्लीमुद्दीन के 2017 में निधन के बाद लोकसभा उपचुनाव में जहां उनके बेटे सरफराज आलम सांसद चुने गए तो विधानसभा उपचुनाव में उनके छोटे पुत्र मो.. शाहनवाज ने आरजेडी के टिकट पर जीत दर्ज की।

वर्ष 1969 में हुए चुनाव के बाद से लेकर पिछले उपचुनाव तक के परिणाम बताते हैं कि विरोधियों की तमाम कोशिशों और एकजुटता के बावजूद तस्लीमुद्दीन परिवार के मजबूत किले को एक दो बार ही भेदने में सफलता मिली है।

दरअसल परिसीमन के बाद जोकीहाट विधानसभा में जहां प्रखंड की 27 पंचायतों के साथ-साथ पलासी प्रखंड की 12 पंचायतों को भी शामिल किया गया। इससे क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति और जातीय समीकरण में बदलाव आया। इसके बावजूद राजनीति की कमान उसी परिवार के हाथ में रही। जोकीहाट विधानसभा अब भी कमो.बेस मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र है। इसके अलावा मंडल व यादव जाति के मतदाता भी अच्छी संख्या में हैं।

जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र के एक बड़ी आबादी की समस्या साल दर साल बाढ़ से होने वाली तबाही है। परमान और बकरा नदी के बीच स्थित प्रखंड के दक्षिणी भाग की दर्जन भर पंचायत के लोग बाढ़ को लेकर परेशान रहते हैं। हाल के दिनों में उदा में बने स्क्रपाइल पुल के अचानक ध्वस्त हो जाने से प्रखंड दो हिस्सों में बंट गया। दक्षिणी भाग का संपर्क मुख्यालय से पूरी तरह भंग हो चुका।

RELATED ARTICLES

बिहार में आइसोलेशन सेंटर दोबारा शुरू, होली पर दूसरे राज्‍यों से आनेवाले को रखा जाएगा

Desk: राजधानी में होली पर कोरोना से ज्यादा प्रभावित राज्यों से आने वालों की जांच के साथ उन्हें आइसोलेशन सेंटर में रखने...

बिहार पंचायत चुनाव में वोटिंग के लिए ये दस्तावेज रखें, आयोग ने जारी की 16 दस्तावेजों की लिस्ट

Desk: बिहार में पंचायत चुनाव के वोटरों के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने उन 16 दस्तावेजों की लिस्ट जारी कर दी है...

राज्यसभा की सीट को लेकर सियासत, चिराग बोले- मेरी मां राजनीति में नहीं आना चाहती

लाइव बिहार: लोजपा संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद राज्यसभा की एक सीट खाली हो गई है....

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकसभा चुनाव की घोषणा अगले हफ्तों के अन्दर, यूपी को छोड़कर देश के सभी राज्यों की सीटों के लिए कांटे की टक्कर

अब कुछ हफ्तों के बाद ही देश में लोकसभा चुनावों की घोषणा हो जाएगी। पर उत्तर प्रदेश (यूपी) को छोड़कर देश के...

सक्षमता परीक्षा देकर बाहर निकले शिक्षक, बोले-सवाल बहुत मुश्किल था, एग्जाम से पहले जूता-मोजा निकलवाया गया

पटनाः बिहार बोर्ड की तरफ से ली जा रही सक्षमता परीक्षा की शुरुआत हो गई है। पहले दिन शिक्षकों ने परीक्षा के...

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

कैमूर हादसे पर CM नीतीश ने जताया दुःख, सभी लोगों की हो गई शिनाख्त, परिवार में मातम का माहौल

पटना डेस्कः बिहार के कैमूर जिला में एक बड़ी घटना घटी है, जिसमें 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। दरअसल...

Recent Comments