Home राजनीति कृषि बिल के विरोध में तेजस्वी यादव आज देंगे धरना, महागठबंधन के...

कृषि बिल के विरोध में तेजस्वी यादव आज देंगे धरना, महागठबंधन के नेता भी होंगे शामिल

- Advertisement -
block id 8409 site livebihar.com - mob 300x600px_B

कृषि बिल के विरोध में आज तेजस्वी यादव पटना के गांधी मैदान में धरना देंगे. यह धरना 10 बजे सुबह से होगा. इस धरना में महागठबंधन के नेता भी शामिल होंगे. तेजस्वी यादव के नेतृत्व में राजद, कांग्रेस और वामदलों के नेता गांधी मैदान स्थित गांधी मूर्ति के सामने दो घंटे के लिए धरना पर बैठेंगे और कृषि बिल का विरोध करेंगे. 

इसको लेकर तेजस्वी यादव ने कल कहा कि अगर नए कृषि विधेयक किसानों के पक्ष में है तो सरकार MSP को अनिवार्य रूप से लागू क्यों नहीं करती ? हम पूर्णत: किसानों के साथ खड़े है, आगे भी रहेंगे. किसानों को फसल का उचित दाम और  न्याय दिलाने के लिए कल सुबह 10 बजे से गांधी मैदान पटना में गांधी मूर्ति के सामने संकल्प लेंगे. तेजस्वी ने कहा कि तेल, रेल, हवाई जहाज, हवाई अड्डे, बंदरगाह, बीएसएनएल, एलआईसी बेचने के बाद भाजपा सरकार अब किसानों की ज़मीन भी पूंजीपतियों के हाथों बेचने पर तुली है. मोदी सरकार कृषि क्षेत्र का भी निजीकरण करने को आतुर है. 

तेजस्वी ने कहा कि मैं बिहार के किसान और संगठनों से अपील करता हूं  कि इस काले कानून के खिलाफ आपलोग सड़कों पर आए और इस आंदोलन को मजबूत करें. पंजाब और हरियाणा समेत कई राज्यों के किसानों में आक्रोश हैं. यह वही सरकार हैं तो किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करनी की बात करती है, लेकिन एमएसपी को खत्म कर दिया है. कृषि को भी प्राइवेट हाथ को सौंप रही है. जिससे प्राइवेट कंपनियों से किसान खरीद बिक्री करेंगे. लेकिन सरकार के सारे फैसले को हमलोगों ने देखा चाहे नोटबंदी हो गया कुछ हो. देश भर में मौजदा सरकार से किसान नाराज हैं. यह किसान विरोधी कानून है. किसानों को मिलना सही मूल्य मिलना चाहिए. कई जगहों पर कर्ज में डूबने से किसान आत्महत्या कर रहे है. जो अन्यदाता है उनके के लिए इस तरह का कानून बनाने देश के खिलाफ है.  

तेजस्वी यादव ने कहा कि किसान शांतिपूर्व आंदोलन कर रहे हैं, इसके बाद भी उनके उपर लाठीचार्ज किया जा रहा है. वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया जा रहा है. बिहार में जहां मंडियों का सवाल है वह 2006 में ही बंद कर दिया गया. स्थिति यह हो गई है कि बिहार के किसान किसानी छोड़ के मजदूरी करने लगे हैं. जब मंडी खत्म हो गया तो किसान कमजोर होते गए. बिहार में बस 2 फसलों पर एसएसपी है. धान का एमएसपी मात्र 1800 है, कही भी धान की खरीद नहीं हो रही है. लेकिन सीएम झूठ बोलते हैं कि खरीद हो रही है. कितने मूल्य पर किसान से फसल खरीदी जा रही है उसे सार्वजानिक करें. अब तो बीजेपी के लंबे समय से सहयोगी रहे लोग भी साथ छोड़ दिये लोग अपना पुरस्कार लौटा रहे हैं.

RELATED ARTICLES

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

सम्राट चौधरी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के बाद तेजस्वी पर बोला हमला, कहा-बिहार को लूटने वाला सत्ता हथियाना चाहते थे, लेकिन..

पटनाः बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम सुनने के बाद कहा कि प्रधानमंत्री ने...

तेजस्वी यादव करेंगे 1400 किमी तक रोड शो, जन विश्वास यात्रा का दूसरा चरण शुरु, महागठबंधन के नेताओं के साथ तालमेल भी

पटना डेस्कः राजद नेता तेजस्वी यादव की जन विश्वास यात्रा के दूसरा चरण 25 फरवरी से शुरू हो गया, जिसका समापन 28...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकसभा चुनाव की घोषणा अगले हफ्तों के अन्दर, यूपी को छोड़कर देश के सभी राज्यों की सीटों के लिए कांटे की टक्कर

अब कुछ हफ्तों के बाद ही देश में लोकसभा चुनावों की घोषणा हो जाएगी। पर उत्तर प्रदेश (यूपी) को छोड़कर देश के...

सक्षमता परीक्षा देकर बाहर निकले शिक्षक, बोले-सवाल बहुत मुश्किल था, एग्जाम से पहले जूता-मोजा निकलवाया गया

पटनाः बिहार बोर्ड की तरफ से ली जा रही सक्षमता परीक्षा की शुरुआत हो गई है। पहले दिन शिक्षकों ने परीक्षा के...

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

कैमूर हादसे पर CM नीतीश ने जताया दुःख, सभी लोगों की हो गई शिनाख्त, परिवार में मातम का माहौल

पटना डेस्कः बिहार के कैमूर जिला में एक बड़ी घटना घटी है, जिसमें 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। दरअसल...

Recent Comments