Home अन्य बड़ी खबरें कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते ब‍िहार सरकार का बड़ा फैसला, 5...

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते ब‍िहार सरकार का बड़ा फैसला, 5 अप्रैल तक सभी छुट्टियां रद्द

Desk: बिहार में तेज रफ्तार से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने बड़ा फैसला लिया है और अब 5 अप्रैल तक डॉक्टर से लेकर अधिकारी और सभी स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने गुरुवार को अधिकारियों के साथ बैठक कर आदेश जारी किया है कि 5 अप्रैल तक डॉक्टर, संविदा डॉक्टर, मेडिकल ऑफिसर, अधीक्षक, प्राचार्य, निदेशक प्रमुख, जूनियर रेजिडेंट, सीनियर रेजिडेंट, पारा मेडिकल कर्मी, जीएनएम, एएनएम कर्मियों की सभी छुट्टियां रद्द रहेगी.

प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने सभी सिविल सर्जन और डीएम को ये भी निर्देश दिया है कि जो भी कर्मी अभी छुट्टी पर हैं. उनकी छुट्टी को तत्काल निरस्त करते हुए उन्हें वापस ड्यूटी पर लगाया जाए. बताते चलूं की राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या रोजाना दोगुनी रफ्तार से बढ़ रहा है और अब नए लोगों को कोरोना चपेट में लेने लगा है. इधर राज्य स्वास्थ्य समिति ने सभी अस्पतालों से कर्मियों की सूची भी मांगी है, जिसके आधार पर पीपीई किट, मास्क,ग्लब्स और सैनिटाइजर की व्यवस्था कराई जा रही है.

पीएमसीएच, एनएमसीएच और एम्स को पूरी तरह से अलर्ट किया गया है और आइसोलेशन बेड बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं. बताते चले कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार में एक बार फिर से तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है और एक दिन में आंकड़ा शतक पार गया है. पिछले 24 घंटे में बिहार में 107 नए मरीजों में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है तो पटना हॉट स्पॉट बनने लगा है.

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक, पटना में एक साथ सबसे ज्यादा 26 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि भागलपुर में तेजी से नए लोगों में संक्रमण फैल रहा है. भागलपुर में भी 11 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है तो कई नए जिलों में भी भोजपुर, रोहतास, सीतामढ़ी समेत कुल 26 जिलों में मरीज मिले हैं. पॉजिटिव मरीजों के आंकड़े बढ़ने के साथ ही राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 405 पर पहुंच गई है, तो राज्य में सैम्पल जांच की संख्या भी बढ़ा दी गई है.

गुरुवार की रिपोर्ट के मुताबिक, एक दिन में कुल 59 हजार 76 लोगों की कोरोना जांच हुई है. पटना में अब एक्टिव मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा यानि 183 पर पहुंच गई है. स्वास्थ्य विभाग की टीम अब हर जगह सैम्पल जांच में जुट गई है तो सभी अस्पतालों और आइसोलेशन सेंटर्स पर डॉक्टरों की तैनाती भी कर दी गई है. राज्य के सभी जिलों को निर्देश दिया गया है कि जहां भी पॉजिटिव मरीज मिलते हैं वहां माइक्रो कंटेन्मेंट जोन बनाया जाए ऐसे में डीएम से लेकर सिविल सर्जन भी मॉनिटरिंग में लगे हैं और लोगों से भी एहतियात बरतने की अपील की जा रही है.

RELATED ARTICLES

बक्सर जिले के आमसारी गांव में गेंहू के खेत में लगी आग, मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड खराब, मुआवजा की कर रहें मांग

लाइव बिहार: बक्सर जिले में सैकड़ों किसान के आंखे आज आंसूयों से भर गए. एक छोटी सी बिजली की चिंगारी से हजारों...

Goal Institute ने दरभंगा जोन में जी.टी.एस.ई. के सफ़ल छात्रों को किया सम्मानित

Desk: दरभंगा जोन में 7वीं, 8वीं, 9वीं, 10वीं, 11वीं एवं 12वीं क्लास में पढ़ रहे बच्चों लिए गोल इन्स्टीच्यूट द्वारा आयोजित गोल...

कोर्ट ने युवक का टैलेंट देख किया रिहा, जज बोले- बिहार पुलिस का एग्जाम निकाला है, जाने दीजिये

Desk: बिहार के नालंदा जिले से एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसके बारे में जानकार आप हैरान रह जायेंगे. सजा सुनाना...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सुशील मोदी ने नेत्रदानी परिवार का किया सम्मान

99 वर्षीय शोभा रानी भट्टाचार्जी के देहांत के पश्चात दधीचि देहदान समिति की पहल से परिवार ने नेत्रदान कराये जाने पर राज्य...

पूर्व सांसद स्व. राम नरेश कुशवाहा की पुण्यतिथि पर लखनऊ पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा, दी श्रद्धांजलि

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जनता दल यूनाइटेड भी पूरी तरह से जुटी हुई है. पार्टी...

जानें जितिया व्रत का महत्व और कई जरूरी बातें

डॉ इंद्र बली मिश्रा काशी हिंदू विश्वविद्यालय हिंदू धर्म में कई व्रत-त्योहार मनाए जाते हैं। जिनमें...

भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ ने किया भाजपा के युवा राष्ट्रीय नेता ऋतुराज सिन्हा जी को सम्मानित

प्रधानमंत्री जी के दिशा निर्देश पर रक्षा मंत्रालय द्वारा एनसीसी के व्यापक समीक्षा हेतु बनाए गए 15 सदस्यीय टीम में शामिल किए...

Recent Comments