Home अभी-अभी 17 फरवरी से शुरू हो रही मैट्रिक परीक्षा, यहां जानें परीक्षार्थियों के...

17 फरवरी से शुरू हो रही मैट्रिक परीक्षा, यहां जानें परीक्षार्थियों के काम की बातें

- Advertisement -
block id 8409 site livebihar.com - mob 300x600px_B

DESK: बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा 17 फरवरी से शुरू हो रही है। बिहार के 1525 सेंटरों पर 24 अप्रैल तक चलने वाली इस परीक्षा में 16,84,466 विद्यार्थी भाग ले रहे हैं, जिनमें 8,37,803 छात्राएं और 8,46,663 छात्र शामिल हैं। परीक्षार्थियों को फोटो युक्त पहचान पत्र की अटेस्टेड कॉपी साथ रख लेनी होगी। यह एडमिट कार्ड से लेकर हर तरह की त्रुटियों में काम आएगा। इंटर की तरह मैट्रिक परीक्षा में भी परीक्षार्थी जूता-मोजा पहनकर जा सकेंगे। इस संबंध में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने आदेश जारी कर दिया है। मैट्रिक के ऐसे परीक्षार्थी, जिनके एडमिट कार्ड में फोटो त्रुटिपूर्ण है, वे भी परीक्षा दे सकेंगे। इसके लिए बोर्ड ने व्यवस्था बनाई है। परीक्षा में सम्मिलित होने से पहले ऐसे परीक्षार्थियों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। इसके लिए परीक्षार्थी को कुछ प्रमाण पत्रों की छायाप्रति रखनी होगी, जो किसी राजपत्रित पदाधिकारी से प्रमाणित हों। इन प्रमाण पत्रों को परीक्षार्थी को सेल्फ अटेस्टेड भी करना होगा।

इनमें से किसी एक की फोटो कॉपी करा लें अटेस्टेड

  • आधार कार्ड, पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस
  • फोटोयुक्त बैंक पासबुक

50 प्रतिशत परीक्षार्थियों की होगी शिफ्ट

मैट्रिक वार्षिक परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों में से लगभग आधे विद्यार्थी एक पाली की परीक्षा में सम्मिलित होंगे और पूरी परीक्षा के दौरान उसी पाली में ही परीक्षा देते रहेंगे। इसी प्रकार आधे विद्यार्थी दूसरी पाली की परीक्षा में सम्मिलित होंगे और पूरी परीक्षा के दौरान उसी पाली में ही परीक्षा देते रहेंगे। प्रथम पाली की परीक्षा में 4,22,661 छात्राएं और 4,24,308 छात्र (कुल 8,46,969 परीक्षार्थी) जबकि द्वितीय पाली की परीक्षा में 4,15,142 छात्राएं और 4,22,355 छात्र (कुल 8,37,497 परीक्षार्थी) सम्मिलित होंगे।

परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले ही मिलेगी इंट्री

प्रथम पाली के परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने के समय (सुबह 9ः30 बजे) से 10 मिनट पूर्व यानी सुबह 9ः20 बजे तक परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। इसी प्रकार, द्वितीय पाली के परीक्षार्थियों को द्वितीय पाली की परीक्षा प्रारम्भ होने के समय (दोपहर 1ः45 बजे) से 10 मिनट पूर्व तथा दोपहर 1ः35 बजे तक ही परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। दोनों पालियों के लिए निर्धारित समय के बाद विलम्ब से आने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

इस बार परीक्षा में क्या नया रहेगा

मैट्रिक वार्षिक परीक्षा में पहली बार ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव प्रश्नों में विद्यार्थियों को 100 अतिरिक्त विकल्प मिलेंगे। समिति द्वारा सभी विषयों में प्रश्न पत्रों काे हल करने के लिए ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव प्रश्नों में 100 अतिरिक्त प्रश्नों का विकल्प दिया जाएगा। जैसे 100 अंक के विषय में विद्यार्थी को 50 अंक का ऑब्जेक्टिव प्रश्न करना पड़ता है, जिसमें प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है। ऐसे में संबंधित विषय में इस वर्ष विद्यार्थी से 50 ऑब्जेक्टिव प्रश्नों का हल करने के लिए 100 प्रश्न पूछे जाएंगे, जिनमें से परीक्षार्थियों को किन्हीं 50 प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। मैट्रिक वार्षिक परीक्षा में प्रश्न-पत्र 10 सेट में रहेंगे, जिसका सेट कोड A से J तक होगा।

परीक्षार्थियों के काम की बातें

  • परीक्षार्थी का प्रवेश पत्र गुम होने या घर पर छूट जाने पर उपस्थिति पत्रक में स्कैन्ड फोटो से उसे पहचान कर और रोल शीट से सत्यापित कर परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जा सकेगी।
  • प्रवेश पत्र में किसी परीक्षार्थी की फोटो में अगर त्रुटि हो, किसी दूसरे छात्र/छात्रा की फोटो लगी हो या फोटो नहीं हो और इसके कारण परीक्षा केन्द्र पर परीक्षार्थी के उपयोग के लिए प्रवेश पत्र, डाटायुक्त उत्तरपुस्तिका, OMR शीट, उपस्थिति पत्रक में फोटो गड़बड़ हो तो ऐसी परिस्थिति में भी परीक्षार्थी को परीक्षा में सम्मिलित कराया जाना है।
  • परीक्षा केन्द्र पर प्रवेश के समय छात्र-छात्राओं की दो बार तलाशी होगी। पहली बार परीक्षा भवन के मेन गेट पर प्रवेश करते समय, दूसरी बार परीक्षा हॉल में तलाशी होगी।
  • दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए राइटर की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी स्तर पर कार्रवाई की जाएगी। परीक्षा में सम्मिलित होने वाले दिव्यांग को खुद राइटर लाने का विकल्प है या मांगे जाने पर जिला स्तर पर उपलब्ध कराया जाएगा। ऐसे विद्यार्थियों को परीक्षा में क्षतिपूर्ति के रूप में अधिकतम 20 मिनट प्रति घंटा का अतिरिक्त समय दिया जाएगा।
  • प्रत्येक परीक्षा केन्द्र में कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, इयरफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स ले जाना और उसका प्रयोग करना वर्जित होगा।
  • बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा पिछले वर्ष की तरह मैट्रिक वार्षिक परीक्षा के सभी विषयों में भी सभी OMR उत्तर पत्रक एवं उत्तरपुस्तिका पर परीक्षार्थी के फोटो सहित सभी विवरणी प्री-प्रिन्टेड रहेगा।

परीक्षा केंद्र में सख्ती के लिए ये व्यवस्थाएं

  • प्रत्येक 25 अभ्यर्थी पर एक वीक्षक की व्यवस्था रहेगी। सभी वीक्षक यह लिख कर देंगे कि उनके अंतर्गत सभी 25 अभ्यर्थियों की तलाशी कर ली गई है।
  • परीक्षा केन्द्र के 200 मीटर की परिधि में धारा 144 प्रभावी रहेगा, जिस कारण भीड़ जैसी स्थिति परीक्षा केन्द्रों के 200 मीटर के अंदर नहीं होनी चाहिए। परीक्षार्थियों के अतिरिक्त कोई भी अनधिकृत व्यक्ति परीक्षा केन्द्र में प्रवेश नहीं करेंगे।
  • हर परीक्षा केन्द्र के बाहर एवं अन्य आवश्यक स्थानों पर CCTV कैमरे लगाए जाएंगे।
  • हर 500 परीक्षार्थी पर एक विडियोग्राफर की व्यवस्था भी की जाएगी।
  • केन्द्राधीक्षक परीक्षा केन्द्र पर प्रतिनियुक्त सभी शिक्षकों एवं कर्मियों को परीक्षा से पूर्व ही परिचय-पत्र जारी करेंगे।
  • केन्द्र के पूर्व प्रवेश द्वार पर ही सुनिश्चित कर लेना होगा कि परीक्षार्थियों के पास प्रवेश पत्र, कलम, पेन्सिल, इंस्ट्रूमेंट बॉक्स के अलावा कोई अनधिकृत कागजात, उपकरण और गैजेट्स नहीं रहें।

पटना में 74 परीक्षा केंद्र

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि मैट्रिक वार्षिक परीक्षा, 2021 के लिए पटना जिले में कुल 74 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं, जिनमें कुल 73,030 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें 38,145 छात्राएं और 34,885 छात्र शामिल हैं। पटना जिले में प्रथम पाली की परीक्षा में कुल 37,335 विद्यार्थी (19,396 छात्राएं और 17,939 छात्र) जबकि द्वितीय पाली की परीक्षा में कुल 35,695 विद्यार्थी (18,749 छात्राएं और 16,946 छात्र) शामिल होंगे।

कंट्रोल रूम किया गया एक्टिव

मैट्रिक वार्षिक परीक्षा के सफल संचालन के लिए कंट्रोल रूम को एक्टिव किया गया है। यह 16 फरवरी की सुबह 6 बजे से 24 फरवरी की शाम 6 बजे काम करेगा। इस दौरान समिति के कंट्रोल रूम के फोन नंबर 0612-2230009 और 0612-2222575 पर किसी भी समस्या के समाधान के लिए फोन किया जा सकता है। सूचनाओं और संवाद के तत्काल आदान-प्रदान के लिए ‘‘BSEB Exam 2021‘‘ नाम से व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है, जिसमें सभी जिला पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी के साथ-साथ बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के पदाधिकारी भी शामिल हैं।

RELATED ARTICLES

राष्ट्रपति के पद से हटने के बाद महामहिम द्रौपदी मुर्मू क्या करेंगी ? बिहार में आकर खुद बता दी, जानिए

पटनाः बिहार में चौथे कृषि रोड मैप 2023 की शुरुआत हो गई है। पटना के बापू सभागार में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने...

भारतीय देशभक्त सिखों को मत जोड़ो खालिस्तानियों से, कुछ देश में जानबूझकर झूठ फैलाया जा रहा है

इधर हाल के दौर में कनाडा, ब्रिटेन, आस्ट्रेलिया वगैरह देशों में मुट्ठीभर सिरफिरे खालिस्तानियों की हरकतों को भारत के सामान्य राष्ट्र भक्त...

अस्पताल के अंदर इवनिंग OPD में नहीं मिल रहे मरीज, सुबह के शिफ्ट में 2000 तक पहुंच रहे मरीज

पटनाः बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव ने राज्य में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए अपनी तरफ से तो भरसक...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लोकसभा चुनाव की घोषणा अगले हफ्तों के अन्दर, यूपी को छोड़कर देश के सभी राज्यों की सीटों के लिए कांटे की टक्कर

अब कुछ हफ्तों के बाद ही देश में लोकसभा चुनावों की घोषणा हो जाएगी। पर उत्तर प्रदेश (यूपी) को छोड़कर देश के...

सक्षमता परीक्षा देकर बाहर निकले शिक्षक, बोले-सवाल बहुत मुश्किल था, एग्जाम से पहले जूता-मोजा निकलवाया गया

पटनाः बिहार बोर्ड की तरफ से ली जा रही सक्षमता परीक्षा की शुरुआत हो गई है। पहले दिन शिक्षकों ने परीक्षा के...

जीतनराम मांझी ने RJD नेता तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे, बोले-नौकरी और रोजगार सिर्फ CM नीतीश ने दिया

पटना डेस्कः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के संरक्षक जीतनराम मांझी ने राजद नेता तेतस्वी यादव के जन विश्वास यात्रा...

कैमूर हादसे पर CM नीतीश ने जताया दुःख, सभी लोगों की हो गई शिनाख्त, परिवार में मातम का माहौल

पटना डेस्कः बिहार के कैमूर जिला में एक बड़ी घटना घटी है, जिसमें 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। दरअसल...

Recent Comments