Home प्रसाशन पटना में इलेक्ट्रिक बसों का किराया घटा, अब गांधी मैदान से जंक्शन...

पटना में इलेक्ट्रिक बसों का किराया घटा, अब गांधी मैदान से जंक्शन तक लगेगा इतना ही भाड़ा

Desk: बिहार स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (BSRTC) ने नई इलेक्ट्रिक बसों का न्यूनतम भाड़ा 20 रुपए से घटा कर 10 रुपए कर दिया है। BSRTC के प्रशासक श्याम किशोर ने बताया कि गर्मी के समय में पटना के लोगों को राहत दी गई है। वातानुकूलित व प्रदूषण रहित इलेक्ट्रिक बस में पांच किलोमीटर की दूरी सिर्फ दस रुपए में पटना के लोग तय कर सकते हैं।

लोगों को गांधी मैदान से पटना जंक्शन तक जाने के लिए ऑटो के बराबर दस रुपए किराया देना होगा। उन्होंने बताया कि पटना जंक्शन से आयकर गोलंबर तक के लिए 10 रुपए देने होंगे। इसी तरह आयकर गोलंबर से पटना जू पहुंचने के लिए, हवाई अड्डा से स्टेशन के लिए भी 10 रुपये ही लिए जाएंगे। बेली रोड पर ही ये बसें चल रही हैं। उस मार्ग के लोगों को भी काफी राहत मिलेगी।

जल्द ही आएंगी आठ और इलेक्ट्रिक बसें ​​​​​​

श्याम किशोर ने बताया कि आठ और इलेक्ट्रिक बसें जल्द ही आएंगी। इसके बाद बसों की संख्या 25 हो जाएगी। राजगीर से पटना और पटना से मुजफ्फरपुर के बीच चलने वाली बसों में लोगों का रिस्पांस काफी अच्छा है। इसे और बढ़ाया जाएगा। बांकीपुर बस पड़ाव से हर दिन वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बस पटना से राजगीर के लिए सुबह 8.00 बजे खुलती हैं। राजगीर से वापसी में 4.00 बजे पटना के लिए खोली जाती हैं। मुजफ्फरपुर के लिए सुबह 7.30 बजे खुलती है। वापसी मुजफ्फपुर से दोपहर दो बजे होती है। ये बसें गांधी मैदान से पटना जंक्शन, आयकर गोलंबर, बेली रोड, सगुना मोड़ होते हुए दानापुर रेलवे स्टेशन के बीच चलाई जा रही हैं।

पटना में प्रदूषण नियंत्रण मुहिम को भी ताकत

गर्मी के समय में लोगों को 10 रुपए में पांच किमी की दूरी वातानुकूलित बसों के करने को मिलेगा इसके बेहतर क्या हो सकता है। इन बसों से पटना में प्रदूषण को नियंत्रित करने की मुहिम को भी ताकत मिलेगी। पटना का एयर पॉल्यूशन कई बार देश भर में सर्वाधिक हो जाता है। बिहार सरकार ने पॉल्यूशन को देखते हुए ही इन बसों को चलाने का फैसला लिया था जिसकी शुरुआत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बस से विधान सभा जाकर की थी।

RELATED ARTICLES

बिहार में सोन नदी पर बनेगा छठा पुल, अब यूपी-झारखंड और छत्‍तीसगढ़ जाना होगा आसान

Desk: दक्षिण बिहार से झारखंड, छतीसगढ़, मध्‍य प्रदेश और उत्‍तर प्रदेश जाना अब और आसान हो जाएगा। दरअसल केंद्र सरकार ने बिहार...

बिहार के सरकारी स्कूलों से पिछले 5 साल में कम हुए 40 लाख बच्चे, सामने आई ये बड़ी वजह

Desk: बिहार के सरकारी तथा सरकार अनुदानित स्कूलों में करीब 40 लाख बच्चे कम हो गए हैं। यह कमी प्रारंभिक स्कूलों में...

बिहार में 50+ वाले अफसर- सिपाही अक्षम दिखे तो होंगे रिटायर, सरकार के आदेश का PMA कर रहा विरोध

Desk: राज्य में 50 साल की उम्र सीमा पार कर चुके अक्षम सरकारी सेवकों को जबरन रिटायरमेंट दिए जाने को लेकर सरकार...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कोरोनाकाल में भी शिक्षकों के वेतन के प्रति सरकार लापरवाह

Desk: सूबे के सर्वशिक्षा मद से वेतन पानेवाले लाखों शिक्षकों का तीन माह से वेतन लंबित है | कोरोनाकाल में शिक्षकों से...

वर्ष 2025 तक सड़क हादसों में मौतों को 50 प्रतिशत तक करेंगे कम : गडकरी

Desk: केंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग मंत्री माननीय श्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य 2025 तक देश...

बक्सर जिले के आमसारी गांव में गेंहू के खेत में लगी आग, मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड खराब, मुआवजा की कर रहें मांग

लाइव बिहार: बक्सर जिले में सैकड़ों किसान के आंखे आज आंसूयों से भर गए. एक छोटी सी बिजली की चिंगारी से हजारों...

अग्नि पीड़ितों की सहायता के लिए आगे आए पप्पू यादव एवं संजय सिंह, JAP पार्टी की तरफ से सहायता राशि प्रदान की गई

Desk: पटना में महावीर वात्सल्य अस्पताल के समीप एल सी टी घाट में विगत दिनों अगलगी की घटना हो गई थी. जिसमें...

Recent Comments